Posts

Showing posts with the label Real Master_Mind

420 लोगों को न जानें इतनी अक्ल और हिम्मत कहां से आती है ?

Image
  24.012024 Dainik Bhaskar Gaya 

#Hindu_Muslim के बीच नफरत का #Real_MasterMind || Hindu हो या Musalman कभी लड़ना नहीं चाहते उन्हें तो लड़ाया जमाने से जाता रहा , ये घिनौना काम किसने और क्यों किया ? जवाब हाजिर है

Image
Dainik Bhaskar Gaya dt. 2.02.2024  नीचे दिए गए  वीडियो को पूरा देखिए , इन नफरत बाजों ने कब कब कौन से खेल खेले हैं समझ में आसानी होगी और भाईचारा कायम रखने में मदद मिलेगी ......

राजस्थानः जयपुर बम ब्लास्ट के चार अभियुक्तों को हाइकोर्ट ने बरी किया, जांच अधिकारियों पर कार्रवाई के आदेश

Image
  पोस्ट किया गया 21:59 29 मार्च 2023 21:59 29 मार्च 2023 राजस्थानः जयपुर बम ब्लास्ट के चार अभियुक्तों को हाइकोर्ट ने बरी किया, जांच अधिकारियों पर कार्रवाई के आदेश मोहर सिंह मीणा जयपुर से, बीबीसी हिंदी के लिए Getty Images Copyright: Getty Images 13 मई 2008 को ब्लास्ट के बाद का मंज़र Image caption: 13 मई 2008 को ब्लास्ट के बाद का मंज़र जयपुर में 13 मई 2008 को हुए सीरियल बम ब्लास्ट के चार अभियुक्तों को हाईकोर्ट ने बुधवार को बरी कर दिया. इन सभी अभियुक्त को दिसंबर 2019 में स्पेशल कोर्ट ने फांसी की सज़ा सुनाई थी. कोर्ट ने राजस्थान पुलिस के मुखिया (डीजीपी) को इस मामले के जांच अधिकारियों पर कार्रवाई के निर्देश भी दिए हैं. चारों अभियुक्त उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों के रहने वाले हैं. बरी हुए चारों अभियुक्त उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों के रहने वाले हैं. इनके नाम मोहम्मद शैफ़, मोहम्मद सलमान, मोहम्मद सरोवर और सैफुल रहमान हैं. इन अभियुक्तों ने सोलह साल तक कोर्ट की लड़ाई लड़ी और हाइकोर्ट से बरी हुए हैं. बरी हुए चारों अभियुक्तों के वकील सैय्यद शहादत अली ने कोर्ट के फ़ैसले पर बीबीसी से फ़ोन पर बातची

Dahshatgardi Kamozoron ka wah hathiyar jis ka istemal unchi pahunch waley karte hain

Image
 

देश में कट्टरपंथ बढ़ा रहे हैं कई हिंदू संगठन, पुलिस अधिकारियों ने बताया - प्रेस रिव्यू

Image
  27 जनवरी 2023 इमेज स्रोत, GETTY IMAGES दिल्ली में पिछले हफ़्ते हुए अखिल भारतीय पुलिस महानिदेशक और महानिरीक्षक सम्मेलन में कुछ पुलिस अधिकारियों ने देश में बढ़ते कट्टरपंथ में इस्लामी संगठनों के साथ-साथ हिंदू संगठनों की भूमिका को रेखांकित किया है. इंडियन एक्सप्रेस में  प्रकाशित ख़बर  के मुताबिक़, ये जानकारी इस बैठक में शामिल हुए अधिकारियों की ओर से दिए गए दस्तावेज़ों से निकलकर आई है. ये दस्तावेज़ कुछ समय के लिए सम्मेलन की वेबसाइट पर मौजूद रहे, लेकिन बीते बुधवार को इन्हें हटा दिया गया. 20 से 22 जनवरी तक चले इस सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी शामिल हुए थे. इनमें से एक दस्तावेज़ में विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जैसे संगठनों को कट्टरपंथी संगठन बताया गया है. छोड़कर ये भी पढ़ें आगे बढ़ें ये भी पढ़ें गांबिया की तरह उज़्बेकिस्तान में 18 बच्चों की मौत, भारतीय सिरप से जुड़े तार: प्रेस रिव्यू अरुणाचल में झड़प के बाद चीन-भारत के बीच पहली बैठक, कांग्रेस ने पूछे सवाल: प्रेस रिव्यू केंद्र सरकार ने 'भारत जोड़ो यात्रा' रोकने को कहा तो कांग्रेस ने पूछा ये सवाल: प

Ji Islam & Musalmanon ko to badnaam kia gaya ......

Image
 

Zaroor dekhen pura video

Image
 

Bharat ka Bhawish kidhar Jaa raha ?

Image
 

विस्टॉल निवासी परशुराम सिंह के घर और उसके बगीचे से 7248 हैंड ग्रेनेड्स के पार्ट्स, 605 डेटोनेटर, 650 सेफ्टी कैच हैंड ग्रेनेड के अलावा राइफल, कारतूस, पुलिस वर्दी, नक्सली साहित्य, मोबाइल फोन, मैगजीन एवं अन्य विस्फोटक भारी मात्रा में जप्त किए गए थे। दो ट्रैक्टरों पर विस्फोट को लादकर पुलिस कड़ौना ओपी में लाई थी।

Image
 https://www.livehindustan.com/bihar/jahanabad/story-nia-team-reached-jehanabad-to-investigate-the-explosive-case-recovered-from-naxalites-for-page-three-4149300.html नक्सलियों से बरामद विस्फोटक मामले की जांच करने जहानाबाद पहुंची एनआईए की टीम (पेज तीन के लिए ) हिन्दुस्तान टीम , जहानाबाद Last Modified: Tue, Jun 22 2021. 21:20 PM IST       हथियार बरामद स्थल विस्टॉल गांव जाकर व जहानाबाद के अधिकारियों से किया संपर्क केंद्रीय जांच एजेंसी के एक डीएसपी के नेतृत्व में की गई प्रारंभिक जांच 31 मार्च को विस्टॉल गांव से बरामद हुए थे दो ट्रैक्टर विस्फोटक पकड़ा गया था माओवादियों को हथियार भेजने वाला बड़ा सप्लायर जहानाबाद। निज प्रतिनिधि केंद्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की चार सदस्य टीम ने जहानाबाद में नक्सलियों से बड़े पैमाने पर बरामद हथियार व विस्फोटक मामले की जांच शुरू कर दिया है। मंगलवार को एनआईए के एक डीएसपी के नेतृत्व में चार सदस्यीय टीम जहानाबाद आई और कड़ौना ओपी के विस्टॉल गांव में जाकर एवं जहानाबाद के पुलिस अधिकारियों से मिलकर प्रारंभिक जांच की। विस्टॉल गांव में काफी देर तक जांच टीम रही। इस मौके पर जह