Posts

Showing posts with the label #LoveJihad

Musalmanon ka Virodh jitna chaaho kar lo Milne wala kuch Nahin

Image
 

#Muslim_Ladkiyon के लिए सबक || मुस्लिम लड़कियां जरूर देखें पूरी स्टोरी ।। हिन्दू लड़कों के सुसाइड वाले झांसे और प्रेसर में आ कर शादी करोगी तो पछताओगी

Image
 

पिंकी की शादी, धर्म परिवर्तन, पति की गिरफ़्तारी और 'गर्भपात'

Image
  गजंफर अली, मुरादाबाद से, बीबीसी के लिए दिलनवाज़ पाशा, बीबीसी संवाददाता 15 दिसंबर 2020 इमेज स्रोत, GAJANFAR ALI इमेज कैप्शन, पिंकी उत्तर प्रदेश में शादी के लिए धर्म परिवर्तन करने को अपराध घोषित करने वाले क़ानून के तहत मुरादाबाद में की गई कार्रवाई चर्चा में है और इसे क़ानून के दुरुपयोग की मिसाल के तौर पर भी पेश किया जा रहा है. पिंकी नाम की एक युवती को यूपी पुलिस ने उसके पति से अलग करके नारी आश्रय केंद्र भेज दिया था. पिंकी पहली महिला हैं जिन्हें यूपी में अंतर-धार्मिक विवाह को रोकने के लिए लाए गए विवादित क़ानून के तहत पति से अलग किया गया था. पिंकी का आरोप है कि नारी आश्रय केंद्र में उन्हें प्रताड़ित किया गया और उन्हें एक इंजेक्शन दिया गया जिसकी वजह से उनका गर्भपात हो गया. विज्ञापन मुरादाबाद पुलिस ने अभी युवती का गर्भपात होने की पुष्टि नहीं की है. मुरादाबाद के एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बीबीसी को बताया है कि युवती ने अदालत में दिए गए अपने बयान में अपनी मर्ज़ी से विवाह करने और ससुराल जाने की बात कही है. इसी के आधार पर उन्हें ससुराल वालों के सुपुर्द कर दिया गया है. छोड़कर और ये भी पढ़ें आगे बढ

यूपी: धर्म परिवर्तन अध्यादेश लागू होते ही बरेली में दर्ज हो गई एफ़आईआर, क्या है पूरा मामला? लेकिन एक साल पहले जब पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी तब समझौता क्यों कर लिया था, इस सवाल के जवाब में लड़की के पिता टीकाराम कुछ नहीं कहते.

Image
यूपी: धर्म परिवर्तन अध्यादेश लागू होते ही बरेली में दर्ज हो गई एफ़आईआर, क्या है पूरा मामला समीरात्मज मिश्र, लखनऊ से बीबीसी हिंदी के लिए 30 नवंबर 2020 इमेज स्रोत, GETTY IMAGES योगी सरकार के नए क़ानून 'उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020' को पिछले हफ़्ते कैबिनेट ने मंज़ूरी दी और शुक्रवार को राज्यपाल की स्वीकृति के बाद ये अध्यादेश अमल में आ गया. अध्यादेश को लागू हुए अभी कुछ घंटे ही बीते थे कि बरेली ज़िले के देवरनियां थाने में इस क़ानून के तहत पहला मामला भी दर्ज कर लिया गया. देवरन‍ियां क्षेत्र के ही शरीफ़नगर गांव के रहने वाले एक किसान टीकाराम ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि उनके पड़ोस का ही रहने वाला एक युवक उनकी बेटी को परेशान करता है और धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा है. पुलिस ने टीकाराम की शिकायत पर शनिवार को एफ़आईआर दर्ज कर ली. नए क़ानून के तहत लगाई गई धारा को पुलिस ने कंप्यूटराइज़्ड एफ़आईआर में अपने हाथ से लिख दिया क्योंकि यह धारा अभी कंप्यूटर के फ़ॉर्मेट में फ़ीड नहीं की गई है. छोड़कर और ये भी पढ़ें आगे बढ़ें और ये भी पढ़ें किसी और धर्म का जीवनसाथ