Posts

Showing posts with the label #CAA #NRC#NPR#Protest#FIR #Registered#Sumaiya_Rana#Fauzia Rana#D/O ManauwarRana

क्या CAA पर स्टे नहीं लगा सकता था सुप्रीम कोर्ट?

Image
ज़ुबैर अहमद बीबीसी संवाददाता, नई दिल्ली इस पोस्ट को शेयर करें Facebook   इस पोस्ट को शेयर करें WhatsApp   इस पोस्ट को शेयर करें Messenger   साझा कीजिए इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES Image caption सांकेतिक तस्वीर बुधवार को देशभर में हो रहे विरोध-प्रदर्शनों के बीच सुप्रीम कोर्ट में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) से जुड़ी 144 याचिकाओं पर सुनवाई हुई जिसके बाद अदालत ने कहा कि 'सीएए पर बिना सुनवाई के रोक नहीं लगाई जा सकती'. सीएए के ख़िलाफ़ कोर्ट में 141 याचिकाएं दायर की गयी थीं, जबकि इसके पक्ष में तीन. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर वो संवैधानिक पीठ बनाएंगे तो वही पीठ अंतरिम आदेश देगी. पर इस क़ानून को लेकर लोगों में जो बेचैनी और विरोध है, उसे देखते हुए क्या सुप्रीम कोर्ट इस क़ानून के लागू किए जाने पर स्टे नहीं लगा सकता था? इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES इस बारे में संविधान विशेषज्ञ और हैदराबाद की नालसार लॉ यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर फ़ैज़ान मुस्तफ़ा ने कहा कि देश में मची अफ़रा-तफ़री को देखते हुए बेहतर तो ये होता कि ख़ुद सरकार ही अदालत से यह क

मुनव्वर राना की बेटी होने की सज़ा दी जा रही है: सुमैया राना

Image
समीरात्मज मिश्र बीबीसी हिन्दी के लिए इस पोस्ट को शेयर करें Facebook   इस पोस्ट को शेयर करें WhatsApp   इस पोस्ट को शेयर करें Messenger   साझा कीजिए इमेज कॉपीरइट SAMIR ATMAJ MISHRA लखनऊ में नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहीं क़रीब 150 अज्ञात और 30 महिलाओं के ख़िलाफ़ पुलिस ने एफ़आईआर दर्ज की है. जिन महिलाओं के ख़िलाफ़ नामज़द रिपोर्ट दर्ज की गई है उनमें मशहूर शायर मुनव्वर राना की दो बेटियां भी शामिल हैं. मुनव्वर राना की बड़ी बेटी सुमैया राना पहले दिन से ही प्रदर्शन में शामिल हैं और उस रात भी वहीं थीं, जब पुलिस वालों ने प्रदर्शनकारियों में बांटे जा रहे कंबल और खाने-पीने की चीज़ें ज़ब्त कर ली थीं. बीबीसी से बातचीत में सुमैया कहती हैं कि उन्हें और उनकी बहन को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि वो मुनव्वर राना की बेटी हैं. सुमैया कहती हैं, "हमें तो एफ़आईआर की कोई सूचना नहीं मिली है और न ही कोई नोटिस है मेरे पास. नामज़द क्यों किया मुझे नहीं मालूम है. क्योंकि न तो मैं प्रोटेस्ट को लीड कर रही थी और न ही मैंने प्रोटेस्ट बुलाया था. मैं