Posts

Showing posts with the label #Gujrat

अमित शाह आ रहे हैं, घरों के दरवाज़े-खिड़कियाँ बंद रखें: अहमदाबाद पुलिस

Image
इमेज स्रोत, GETTY IMAGES अहमदाबाद के वेजलपुर में ऊंची इमारतों वाली एक सोसायटी में रहने वाले लोगों से स्थानीय पुलिस ने अपने-अपने फ़्लैट के खिड़की-दरवाज़े बंद रखने की 'विनती' का आदेश दिया है. ऐसा आदेश भारत के गृह मंत्री अमित शाह के तीन दिवसीय अहमदाबाद दौरे को ध्यान में रखते हुए दिया गया है. अमित शाह शनिवार को ही अहमदाबाद पहुँच गये थे. अपनी इस यात्रा के दौरान वे कई परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे. इन परियोजनाओं में वेजलपुर में सामुदायिक भवन का उद्घाटन भी शामिल है. इसी सामुदायिक भवन के आसपास की ऊंची इमारतों वाली सोसायटी के चेयरमैन को स्थानीय पुलिस अधिकारियों ने एक आदेश दिया है. छोड़कर और ये भी पढ़ें आगे बढ़ें और ये भी पढ़ें अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के कदमों की धमक, 1700 भारतीयों का क्या होगा? धर्म परिवर्तन करने वाली महिला की हाई कोर्ट से गुहार, पुलिस-मीडिया से बचाएं - प्रेस रिव्यू जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार अब क्या नया करने की तैयारी में है? सेंट्रल विस्टा: मोदी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट का निर्माण कोरोना महामारी के दौर में 'आवश्यक सेवा' कैसे? समाप्त 9 जुलाई को जारी किये गए आ

गुजरात दंगे के दोषियों को बेल कैसे मिल जा रही?

Image
मिहिर देसाई प्रोफ़ेसर, हार्वर्ड लॉ स्कूल इस पोस्ट को शेयर करें Facebook   इस पोस्ट को शेयर करें WhatsApp   इस पोस्ट को शेयर करें Messenger   साझा कीजिए इमेज कॉपीरइट AFP गुजरात के सरदारपुरा दंगा मामले में 14 दोषियों को ज़मानत देने का सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला चौंकाने वाला है. इन लोगों को पूरी सुनवाई के बाद साल 2002 के दंगों में 33 बेकसूर मुसलमानों को ज़िंदा जलाने का दोषी पाया गया था. मरने वालों में 17 महिलाएं और दो बच्चे थे. इस मामले में 56 लोग (हिंदू) अभियुक्त थे. सभी को दो महीने के अंदर इस जनसंहार में ज़मानत मिल गई. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट को गुजरात में न्यायिक सुनवाई में गड़बड़ी का अहसास हुआ था तो सरदारपुरा समेत आठ मामलों की जांच के लिए एसआईटी, स्पेशल पब्लिक प्रॉसिक्युटर और अलग से जजों को नियुक्त किया गया था. विज्ञापन आख़िरकार 31 लोगों को ट्रायल कोर्ट में दोषी ठहराया गया और उन्हें उम्र क़ैद की सज़ा मिली. इसके बाद हाई कोर्ट में इस फ़ैसले को चुनौती दी गई और 31 में से 14 की उम्र क़ैद की सज़ा बरकरार रही थी. सामान्य हालात में इन मामलों मे