Posts

Showing posts with the label Dalit Muslim Alliance

देश में #Daliton के खिलाफ कब रुकेगा ज़ुल्म ?

Image
यूपी में दबंगों की पिटाई से आहत दलित युवक ने की आत्महत्या, दो गिरफ़्तार समीरात्मज मिश्र लखनऊ से बीबीसी हिंदी के लिए 31 दिसंबर 2020 इमेज स्रोत, SAMIRATMAJ MISHRA उत्तर प्रदेश के फ़तेहपुर ज़िले में कथित तौर पर कुछ दबंगों की पिटाई से क्षुब्ध होकर एक दलित युवक ने आत्महत्या कर ली. युवक का अपराध इतना था कि उसकी बकरियों ने अभियुक्तों के आम के पेड़ की पत्तियाँ खा ली थीं. पुलिस ने गाँव के ही तीन लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज करके दो अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया है. फ़तेहपुर के पुलिस अधीक्षक सतपाल आंतिल ने बताया, "मलवाँ थाने के अस्ता गाँव में सूचना मिली थी कि एक युवक ने आत्महत्या कर ली है. परिजनों से पता चला कि युवक का कुछ लोगों से विवाद हुआ था. उनकी शिकायत पर तीन लोगों के ख़िलाफ़ आत्महत्या के लिए उकसाने और दलित एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. दो लोगों को गिरफ़्तार किया गया है." इमेज स्रोत, SAMIRATMAJ MISHRA मलवाँ थाना क्षेत्र के अस्ता के रहने वाले रमापति दिवाकर का बेटा धर्मपाल खेती करता था. मंगलवार को गाँव में ही बकरियां चराने गया था. उसी दौरान कुछ लोगों से उसका विवाद हुआ जिससे व

Musalmanon ka Virodh jitna chaaho kar lo Milne wala kuch Nahin

Image
 

हिंदू राष्ट्रवाद को चुनौती देना चाहते हैं ये दलित ब्रैंड्स

Image
चिंकी सिन्हा बीबीसी संवाददाता इस पोस्ट को शेयर करें Facebook   इस पोस्ट को शेयर करें WhatsApp   इस पोस्ट को शेयर करें Messenger   साझा कीजिए दलित ब्रैंडः 'हमने गाली को ब्रैंड में बदल दिया' दक्षिण मुंबई में एक महंगे रीटेल स्टोर में जिस समय शहर के संपन्न लोग दलित उद्धार और 'बहिष्कृत लोगों' व फ़ैशन की दुनिया के मेल पर बात कर रहे थे, 32 साल के सचिन भीमा सखारे बाहर एक कोने में खड़े थे. ये सब हो रहा था बीते पाँच दिसंबर को. सचिन भीमा सखारे बताते हैं कि स्टोर में हुए इवेंट में 'चमार फ़ाउंडेशन' के सदस्यों द्वारा बनाए गए रबर के 66 बैग बिके. भीमा सखारे जानवरों की खाल से जुड़े काम करने वाले अनुसूचित जाति से उन 10 सदस्यों में से एक हैं जो सब्यसाची, राहुल मिश्रा और गौरव गुप्ता जैसे डिज़ाइनर्स के साथ एक प्रोजेक्ट के लिए जुड़े हैं. इस प्रोजेक्ट के तहत ही ये चुनिंदा ख़ास बैग तैयार किए गए थे. Image caption एक ख़ास प्रोजेक्ट के तहत लॉन्च किए गए ये प्रोडक्ट इनकी बिक्री से मिलने वाला पैसा हाल ही में शुरू किए गए चमार फ़ाउंडेशन को जा