Posts

Showing posts with the label hindutva

वायरल वीडियो ! हिन्दू हिंदुत्व के खिलाफ । देखें पूरा वीडियो

Image

अकाल तख़्त ने की आरएसएस पर बैन की मांग

Image
15 अक्तूबर 2019 इस पोस्ट को शेयर करें Facebook   इस पोस्ट को शेयर करें WhatsApp   इस पोस्ट को शेयर करें Messenger   साझा कीजिए इमेज कॉपीरइट EPA सिख धर्म से जुड़ी सबसे बड़ी धार्मिक संस्था अकाल तख़्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर देश को बांटने वाली गतिविधियां चलाने का आरोप लगाया है. उन्होंने आरएसएस पर तुरंत पाबंदी लगाने की मांग की है. उन्होंने कहा, "सभी धर्म और संप्रदाय के लोग भारत में रहते हैं और यही इस देश की खूबसूरती है. संघ का कहना है कि भारत को हिंदू राष्ट्र बनाएंगे, लेकिन ये देश के हित में नहीं है." इस बीच भारतीय जनता पार्टी के सिख नेता आरपी सिंह ने आरएसएस का बचाव किया है. उन्होंने बयान पर कड़ी आपत्ति ज़ाहिर करते हुए कहा है, "हिंदू कोई धर्म पंथ का नाम नहीं है, ये एक संस्कृति है. मैं अकाल तख़्त के जत्थेदार से निवेदन करूंगा कि आरएसएस का तीन सदस्य मंडल अल्पसंख्यक आयोग से मिला था और उन्होंने माना था कि सिख अलग धर्म है और इसका अलग अस्तित्व है." null आपको ये भी रोचक लगेगा 'दोनों पक्ष

बीजेपी को उल्टा तो नहीं पड़ेगा पूर्वोत्तर में 'हिंदुत्व एजेंडा' .....?

Image
दिलीप कुमार शर्मा गुवाहाटी से, बीबीसी हिंदी के लिए 31 जनवरी 2019 इस पोस्ट को शेयर करें Facebook   इस पोस्ट को शेयर करें WhatsApp   इस पोस्ट को शेयर करें Messenger   इस पोस्ट को शेयर करें Twitter   साझा कीजिए इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES साल 2016 की 24 मई का दिन. जगह असम के गुवाहाटी का खानापाड़ा मैदान. मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत उनके कैबिनेट के सभी शीर्ष मंत्री मौजूद थे. साथ ही मौजूद थे बीजेपी के सबसे वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह. पूर्वोत्तर राज्यों में किसी भी सभा में एक साथ बीजेपी के इतने नेता कभी शामिल नहीं हुए. बीजेपी और उनके सहयोगी पार्टी के 14 मुख्यमंत्री भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे. दरअसल ये कार्यक्रम असम में पहली बार सत्ता में आई बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल का शपथ ग्रहण समारोह था. बीजेपी ने अपने एक मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण कार्यक्रम को इतने बड़े समारोह का रूप देकर कर एक तरह से पूर्वोत्तर राज्यों में सालों से राज कर रही कांग्रेस को साफ संदेश दे दिया था कि अब इस क्षेत्र में उसको कोई नहीं रो

आरएसएस जिला प्रचारक ने पुलिस थाने में फेंके बम, सामने आई सीसीटीवी फुटेज

Image
दो जनवरी को भगवान अयप्पा के मंदिर में रजस्वला आयु वर्ग की दो महिलाओं के पूजा करने के बाद से भाजपा-आरएसएस एवं दक्षिणपंथी संगठनों के केरल में हिंसक प्रदर्शन जारी हैं। सबरीमला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के विरोध में शनिवार (5 जनवरी, 2018) को भी भाजपा-आरएसएस और सत्तारूढ़ माकपा कार्यकर्ताओं की हिंसा में राजनीतिक रूप से संवेदनशील उत्तरी केरल का कन्नूर जिला झुलसता रहा। प्रतिद्वंद्वी नेताओं और कार्यकर्ताओं की कई दुकानों और घरों पर हमला किया गया। इसी कड़ी में अब आरएसएस के जिला प्रचारक का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। फुटेज में नजर आ रहा है कि आरएसएस प्रचारक नेदुमंगद पुलिस स्टेशन में बम से हमला कर रहा है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इस हमले में कम से कम पांच लोग घायल हो गए। करीब एक मिनट की इस फुटेज में नजर आ रहा है कि शख्स हाथ में बम लेकर पुलिस स्टेशन पर फेंक रहा है। उसके साथ कुछ लोग और भी नजर आ रहे हैं। शख्स कई बार बम फेंकता था। वहीं पुलिस ने बताया कि माकपा विधायक ए एन शमसीर के मदापीडिकाइल, भाजपा नेता एवं राज्यसभा सांसद वी मुरलीधरन के वदियिल पीड़िकिया और माकपा के कन्नूर जिला के पूर्व सच

अच्छी सोच रखने वाले लोग हिंदुत्व को हरगिज़ पसंद नहीं करते: जमात-ए- इस्लामी

September 21, 2016 Delhi अच्छी सोच रखने वाले लोग हिंदुत्व को हरगिज़ पसंद नहीं करते: जमात-ए- इस्लामी - The Siasat Daily नई दिल्ली: हिंदुत्व देश के हित में नहीं है। चिंताजनक बात यह है कि आज के सरकार की हिंदुत्व को सरपरस्ती हासिल है। हिंदुत्व की कल्पना आक्रामक है, यह भारत के अल्पसंख्यकों के खिलाफ है। जो व्यक्ति सामान्य ज्ञान रखता है हिंदुत्व को कतई पसंद नहीं करता है, यह किसी दूसरी सभ्यता को मानने के लिए तैयार नहीं है। Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये इन विचार का व्यक्त अमीर जमाते इस्लामी ने मरकज़ जमाअत में डॉ। सैयद औसाफ सईद वस्फी की किताब “हिंदुत्व और भारत में अल्पसंख्यक”। के विमोचन समारोह में किया। मौलाना ने कहा कि वस्फी साहब विभिन्न विषयों पर लिखते रहे हैं, पिछले 50 वर्षों में रेडियन्स में उन्होंने जो कुछ लिखा उसे सलीके से पेश किया है, यह एक समन्वित प्रयास है, इससे हम समझ सकते हैं कि पिछले पचास वर्षों में हिंदुत्व उभरा और अल्पसंख्यकों को नुकसान हुआ है। वस्फी साहब बधाई के पात्र हैं कि उन्होंने सबूत के साथ हिन्दूत्व की इतिहास हमारे सामने रख दी है। अगर वे अन्य विष