Posts

Showing posts with the label Ram Mandir

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को गलत ठहराने वाले इतिहासकार का निधन ।।

Image
  इतिहासकार डीएन झा का निधन, राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को बताया था निराशाजनक इमेज स्रोत, RSTV जाने-माने इतिहासकार प्रोफेसर द्विजेंद्र नारायण झा का गुरुवार को देहांत हो गया है. गुरुवार शाम उनके घर पर उनकी मौत हो गई. वो बीते कुछ वक्त से बीमार थे. उनके परिवार में उनकी पत्नी हैं. प्रोफ़ेसर द्विजेंद्र नारायण झा प्राचीन और मध्यकालीन भारतीय इतिहास के विशेषज्ञ माने जाते थे. वो भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद् के सदस्य भी थे. अयोध्या में बने राम मंदिर पर आए सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद उन्होंने बीबीसी को दिए एक साक्षात्कार में कोर्ट के फ़ैसले को निराशाजनक बताया था. विज्ञापन प्रोफ़ेसर डी.एन. झा उन चार इतिहासकारों में से एक थे जिन्होंने 'रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद: ए हिस्टॉरियन्स रिपोर्ट टू द नेशन' रिपोर्ट सरकार को सौंपी थी. अपनी इस रिपोर्ट में उन्होंने अपनी उस मान्यता को ख़ारिज किया था जिसमें कहा जाता है कि बाबरी मस्जिद के नीचे एक हिंदू मंदिर था. छोड़कर और ये भी पढ़ें आगे बढ़ें और ये भी पढ़ें हैदराबाद क्या वाक़ई पहले भाग्यनगर था? जानिए इतिहास हैदराबाद का मंदिर जिस पर शहर का नाम भ

#RamMandir के पिलर्स क्या वाकई में धंसने लगे ?

Image
 

मथुरा के मंदिर में नमाज़ पढ़ने पर गिरफ़्तार होने वाले फ़ैसल ख़ान कौन हैं

Image
  समीरात्मज मिश्रा बीबीसी हिंदी के लिए 3 नवंबर 2020 इमेज स्रोत, SAMIRATMAJ MISHRA इमेज कैप्शन, फ़ैसल ख़ान उत्तर प्रदेश के मथुरा ज़िले में मंदिर में नमाज़ पढ़ने के जुर्म में सामाजिक कार्यकर्ता फ़ैसल ख़ान को गिरफ़्तार कर लिया गया है. एक दिन पहले फ़ैसल ख़ान और उनके तीन अन्य साथियों के ख़िलाफ़ इस मामले में एफ़आईआर दर्ज की गई थी. यूपी पुलिस ने उनके ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 153A, 295 और 505 के तहत एफ़आईआर दर्ज की है. आरोप हैं कि फ़ैसल ख़ान और चांद मुहम्मद ने 29 अक्तूबर को मथुरा के नंदबाबा मंदिर परिसर में नमाज़ पढ़ी थी. विज्ञापन उस वक़्त उनके दो अन्य साथी नीलेश गुप्ता और आलोक रतन भी वहां मौजूद थे. छोड़कर और ये भी पढ़ें आगे बढ़ें और ये भी पढ़ें बाबरी विध्वंस कथा के पाँच सबसे अहम पड़ाव अयोध्या में राम मंदिर बनने का असर क्या काशी-मथुरा पर भी होगा? मथुरा के एक मंदिर में नमाज़ पढ़ने पर एफ़आईआर दर्ज, क्या है पूरा मामला? असम में मंदिरों के निर्माण में मदद करने वाले मुस्लिम जोड़े की कहानी समाप्त ये सभी लोग ब्रज की चौरासी कोसी परिक्रमा करने के लिए दिल्ली से मथुरा गए थे और इस दौरान नंदबाबा मंदिर में भी प