Posts

Showing posts with the label AIMIM Chief Asaduddin Owaisi

ओवैसी ने नताशा, देवांगना और आसिफ़ को लेकर चिदंबरम को आडे़ हाथों लिया

Image
  ANI Copyright: ANI उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगे से जुड़े यूएपीए मामले में पिंजरा तोड़ की कार्यकर्ताओं देवांगना कलिता और नताशा नरवाल और जामिया के छात्र आसिफ़ इक़बाल तन्हा को ज़मानत मिलने पर जब देश के पूर्व गृह मंत्री पी. चिंदबरम ने उनके साहस की प्रशंसा की तो एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने चिदंबरम को आड़े हाथों लिया. ओवैसी ने ट्वीट करके यूएपीए जैसे कठोर क़ानून बनाने को लेकर पी. चिदंबरम की आलोचना की है. ओवैसी ने दो ट्वीट किए हैं. पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा, “केवल तीन निरर्थक ट्वीट. जो ज़रूरी चीज़ है, उस पर एक शब्द भी नहीं बोला गया. पी. चिदंबरम जादुई शब्द बोलिए: यूएपीए. आपने ही यूएपीए में संशोधन किया जिससे अनगिनत मुसलमानों और आदिवासियों की ज़िंदगियां तबाह हुईं. जब बीजेपी ने यूएपीए में संशोधन कर इसे और बदतर किया तो आपकी पार्टी ने राज्यसभा में साथ देने में कोई देरी नहीं की.'' Social embed from twitter रिपोर्ट Report this social embed, make a complaint अगले ट्वीट में ओवैसी ने लिखा, “इन तीन युवाओं- नताशा, देवांगना और आसिफ़ से बीजेपी, कांग्रेस को माफ़ी मांगनी चाहिए न कि भारतीयों को

Hindu Bhai Ne ki Owaisi ki Tarif , Kaha Owaisi jaisa koi nahin?

Image
 

बिहार चुनाव के बाद ओवैसी के रडार पर अब पश्चिम बंगाल :प्रेस रिव्यू

Image
  इमेज स्रोत, AIMIM बिहार में विधानसभा चुनाव के बाद अब अगले साल की पहली छमाही में पश्चिम बंगाल में चुनाव होने हैं. पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा के चुनाव को लेकर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम भी जल्दी ही घोषणा कर सकती है. इकोनॉमिक टाइम्स  ने इस ख़बर को प्रकाशित किया है. बिहार विधानसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करते हुए एआईएमआईएम ने पांच सीटें हासिल की हैं. पार्टी को लेकर यह भी दावा किया जा रहा है कि उनके कारण दूसरी पार्टियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है. वीडियो कैप्शन, बिहार चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी की धमाकेदार एंट्री जिस दौरान बिहार विधानसभा के लिए मतगणना हो रही थी, उस दौरान यह भी संभावनाएं नज़र आ रही थीं कि एआईएमआईएम किंग-मेकर की भूमिका में आ सकती है. हालांकि पूरे मतों की गिनती के बाद एनडीए पूर्ण बहुमत के साथ एक बार फिर सत्ता में लौट रही है. विज्ञापन एआईएमआईएम के प्रवक्ता और पश्चिम बंगाल में पार्टी के को-ऑर्डिनेटर असीम वक़ार ने कहा कि पार्टी को पश्चिम बंगाल के विभिन्न ज़िलों से फ़ीडबैक मिल रहा है और अब सिर्फ़ पार्टी प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के सात चर्चा के बाद घोषणा की जा

बिहार चुनाव: ओवैसी की वजह से आरजेडी को कितना नुक़सान, बीजेपी को कितना फ़ायदा?

Image
  दिलनवाज़ पाशा बीबीसी संवाददाता इमेज स्रोत, AIMIM बिहार के सीमांचल इलाक़े में 24 सीटे हैं जिनमें से आधी से ज़्यादा सीटों पर मुसलमानों की आबादी आधी से ज़्यादा है. असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम इनमें से पांच सीटों पर आगे चल रही है. आमौर सीट से पार्टी के अख़्तरउल ईमान, कोचाधाम से इज़हार आसिफ़, बायसी से रुकुनुद्दीन, बहादुरगंज से अंजार नईमी और जोकीहाट से शाहनवाज़ आलम जीत रहे हैं. चुनाव नतीजे आने से पहले राजनीतिक विश्लेषक ये मान रहे थे कि सीमांचल के मुसलमान मतदाता ओवैसी की पार्टी के बजाए धर्मनिरपेक्ष छवि रखने वाली महागठबंधन की पार्टियों को तरजीह देंगे. लेकिन, अब ये साफ़ हो गया है कि सीमांचल के मतदाताओं ने बदलाव के लिए वोट किया है. विज्ञापन 'ख़बर सीमांचल' के संस्थापक हसन जावेद के मुताबिक, "सीमांचल की जनता बदलाव के लिए वोट कर रही है. सेक्युलर दलों को लगता है कि मुसलमान सिर्फ उन्हें ही वोट देंगे, भले ही वो काम करें या नहीं. लेकिन इस बार लोग नए चेहरों को चुन रहे हैं." छोड़कर और ये भी पढ़ें आगे बढ़ें और ये भी पढ़ें बिहार चुनाव: मायावती का बीजेपी को ‘समर्थन’ और ओवैसी की चु