Posts

Showing posts with the label Education Department

#बिहार_शिक्षा_विभाग | मेरा दूरदर्शन मेरा विद्यालय कार्यक्रम शुरू ।कक्षा 9वीं एवं 10वीं के विद्यार्थियों के लिए । सत्र(2020-21) हेतु

Image
शिक्षा विभाग बिहार शिक्षा परियोजना परिषद् द्वारा दूरदर्शन के डीडी बिहार चैनल पर कक्षा 9वीं एवं 10वीं के विद्यार्थियों सत्र(2020-21) हेतु मेरा दूरदर्शन मेरा विद्यालय कार्यक्रम का प्रसारण किया जा रहा है। 20 अप्रैल,2020 से प्रतिदिन सुबह 11:05 से 12 बजे तक #BiharEducationDept pic.twitter.com/RY3NYnJyZF — IPRD Bihar (@IPRD_Bihar) April 18, 2020

Important links

IMPORTANT LINKS 1. Sarv Shiksha Abhiyan (http://ssa.nic.in/)  2. Education For All In India (http://www.educationforallinindia.com) 3. Registrar General of India (http://censusindia.net/) 4. District Information System for Education (http://dise.in/) 5. National University of Education Planning & Administration (http://nuepa.org/) 6. Website Addresses of States/Union Territories (http://www.schoolreportcards.in/ 7. Details of Primary and Upper Primary Schools In Bihar (http://www.schoolreportcards.in) 8. Bihar Madhymik Shiksha Parishad (http://www.bmsprmsa.in) 9. Mid Day Meal (http://mdmsbihar.org/) 10. Bihar Board of Open Schooling and Examination (B.B.O.S.E.)(http://bbose.org/) 11. All India School Education Survey  All India Survey on Higher Education  Bihar Education Quality Misson(http://bihar100years100pledges.sunai.in) 12. Bihar Education Project Council (http://bepcssa.in) 13. Bihar State Educational Infrastructure Development Corporation (www.

अगर स्कूली शिक्षा में गुणवत्ता लाना है तो सबसे पहले शिक्षा विभाग के अधिकारियों -कर्मचारियों से ले कर शिक्षा मंत्री का वेतन-भत्ता छः महीने के लिए बिलकुल बन्द कर दिया जाय तो फिर देखें ना सरकारी विद्यालयों की शिक्षा व्यवस्था में कैसे गुणात्मक सुधार होता ह

Deepak Jaiswal बिहार तेज़ी से सड़ रहा है... बिहार के सरकारी विद्यालयोंं के नियोजित शिक्षकों का वेतन पिछले छः-छः महीनों तक से नहीं मिला है और ऐसे में सरकार और आम जनता बिहार के सरकारी स्कूलों से शिक्षा में गुणवत्ता की उम्मीद करती है... किसी भी विद्यालय में जरूरत के मुताबिक 40% से ज्यादा शिक्षक हैं ही नहीं..... और गणित-विज्ञान- अंग्रेजी में तो बरसों से नहीं... सरकार शिक्षक नियोजन के नाम पर तमाम नौटंकीबाज़ी कर रही है... पिछले तीन साल से एक भी शिक्षक की बहाली नहीं हुई है... जबकि हर महीने हजारों शिक्षक रिटायर हो रहे हैं.... अब अगर सही तरीके से बोर्ड-इंटर परीक्षा लेने पे सरकारी विद्यालयों के 48% बच्चे फेल कर रहे हैं और राज्य में कोचिंग माफिया का प्रचार-प्रसार हो रहा है तो दोष किसका??? अरे अगर स्कूली शिक्षा में गुणवत्ता लाना है तो सबसे पहले शिक्षा विभाग के अधिकारियों -कर्मचारियों से ले कर शिक्षा मंत्री का वेतन-भत्ता छः महीने के लिए बिलकुल बन्द कर दिया जाय तो फिर देखें ना सरकारी विद्यालयों की शिक्षा व्यवस्था में कैसे गुणात्मक सुधार होता है... https://mobile.facebook.com/story.php?story_fbid=1