Posts

Showing posts with the label Gaya

कहने को तो बिहार में शूटरों के खिलाफ अभियान छिड़ा हुआ लेकिन ये अभियान सिर्फ अखबारी अभियान साबित हो कर राह गया है || इमरान कांड में अब तक क्यों नहीं मिली सफलता ?

Image
  LIVE टीवी  परम्परागत उद्योग चटाई निर्माण को वोकल फ़ॉर लोकल की तलाश। फैंसी क्रिकेट मैच में लगा भोजपुरी कलाकारों का जमघट। पटनासिटी के बाहरी बेगमपुर इलाके में एक मकान में लगी भीषण आग। हर हाल में पकड़े जाएंगे रूपेश हत्याकांड के आरोपी: उप मुख्यमंत्री। आपदा को ले सरकार सजग, राजमिस्त्री को दी जा रही भूकंप रोधी भवन बनाने की दी गई ट्रेनिंग। वर्षों से लंबित दाखिल खारिज व लागान की रसीद ना काटे जाने के विरोध में लोगों ने निकाला मशाल जुलूस। लालू प्रसाद की अचानक तबियत बिगड़ी स्वास्थ्य मंत्री पहुंचे रिम्स मुख्यमंत्री ने राजगीर स्थित मखदुम कुंड का किया परिभ्रमण, निर्माण कार्य का लिया जाएजा नई दिल्ली स्थित बिहार भवन की नई वेबसाइट का लोकार्पण भारी मात्रा में शराब का विनिष्टीकरण 5 वर्षों से फरार चल रहे विक्षिप्त का हत्यारा चढ़ा बाढ़ पुलिस के हत्थे ऑनर किलिंग मामले में हथियार के साथ सूटर गिरफ्तार, बदचलन के आरोप में युवती की हुई थी हत्या घर के अंदर सास को किया दफन, बहु को पुलिस ने किया गिरफ्तार राजद मनाएगा 24 से 30 जनवरी तक किसान जागरूकता सप्ताह, 30 जनवरी को काले कृषि कानून के विरोध में मानव श्रृंखला - ते

#Cherki_Bazar_Gaya_Bihar

 अगर आप का गया कि चेरकी में कोई बिजनेस करते हैं , और उसका ऑनलाइन प्रचार सस्ते दर पर करवाना चाहते हैं तो कांटेक्ट करें ।। गूगल सर्च में भी शो करेगा वह भी टॉप टेन में ।। वह भी कोई विशेष खर्च अलग से किये बगैर ।। कांटेक्ट करें WhatsApp 7301014009 पर 

चलो अजमेर चलें ! जाने की तारीख -21.2.2020 | उर्स की तारीख - 01-03-2020

Image
राब्ता करें -7061228681  #Islam Khan , Khandail ( Cherki) Gaya

शिक्षक दिवस के अवसर पर देखिये यह शिक्षक छात्राओं के साथ क्या कर रहा ? शिक्षक दिवस पर की गई ये हरकत गया में लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ , वीडियो जम कर हो रहा वायरल ।

Image
ये शिक्षक कोई और नहीं गया के चर्चित कोचिंग "ज़ुबैर खान बायोलॉजी सेन्टर" पुरानी करीमगंज गया के मालिक सह शिक्षक ज़ुबैर खान हैं ।

मानवधिकार उल्लंघन मामले में पत्रकार कौसर नदीम के जरिये मामला सामने लाने के बाद मिली थी पीड़ित को इंसाफ ।

Image

गया (#Gaya) के करीमगंज मुहल्ला में एक मकान को लेकर बड़ी अनहोनी घटना की आशंका । दहशत में दो परिवार ।

Image
मामला सिविल थाना तहत आने वाले पुरानी करीमगंज मोहल्ले के अब्बास लेन से जुड़ा हुआ । --------------- मिल रही सूचना के मुताबिक मामला अदालत में रहने के बावजूद एक पक्ष मकान बेचने के लिए करीमगंज के मशहूर हिस्ट्री_शीटर और आतंक का प्रायः माने जाने वाले शख्स का सहारा ले लिया है । कागज पर हस्ताक्षर करने लिए उक्त कुख्यात और हिस्ट्रीशीटर शख्श और उनके कुछ सहयोगी  शफ़ीक़ अहमद और मोइन अहमद के घर बार बार एक काना को भेज कर अपने पास बुलवा रहे । घर वालों की माने तो उक्त काना आज दिनांक 5/8/2019 को फिर आया और कहा कि आप दोनों का आधार कार्ड की फोटोकॉपी चाहिए । शफ़ीक़ और मोइन अहमद का कहना है कि जो अदालत करेगी वही मान्य होगा । क्या है मामला ? 1.बशीर अहमद  2.मुनीर अहमद  3.अरशद अहमद और उनके पक्ष के कुछ और लोगों का विवाद मकान बेचने को लेकर शफीक अहमद और मोइन अहमद से चल रहा । मामले की निपटारा को ले कर एक पक्ष कोर्ट भी गया , मामला प्रिंसीपल #सब_जज के यहां 63/560 दिनांक 19/8/2017 के रूप में दर्ज भी है । इस मामले में अदालत ने क्या फैसला सुनाया शफ़ीक़ अहमद और मोइन अहमद के परिवार को पता तक नहीं । इस

#बिहार_गया_प्रधानमंत्रीआवास_योजना का लाभ लेने के लिए इस गरीब और बेवा महादलित महिला को कितना देना पड़ा घूस । अंत तक देखें वीडियो तब समझ में आएगी , जब बात समझ में आएगी सुन कर बेहोश हो जाएंगे ।।

Image

बिहार सुशासन की तस्वीर ! ये विधुतीकरण किसे फायदा पहुंचाने के लिए कराया गया ?

Image
ये तस्वीर गया जिला के शेरघाटी प्रखंड के चेरकी पंचायत के Khandail गांव की है । Khandail के जयपुर रोड में सरकार ने विधुतीकरण सालों साल पहले कराए मगर आज तक इस में विधुतीकरण का फायदा आम लोगों को नहीं हुआ । सवाल पैदा होता है कि जब सरकार को इससे आम जनता को फायदा नहीं पहुंचना था तो करोड़ों रुपए खर्च कर विधुतीकरण किसे फायदा पहुंचाने के लिए कराया गया ।  इधर सूत्रों की मानें तो गांव वाले इस मामले को  बिहार राज्य मानवाधिकार आयोग के  अध्यक्ष को पत्र लिख कर इस मामले की जांच कराने की तैयारी में हैं । 

BUDGET 2019: पीयूष गोयल के बजट में मिडिल क्लास, किसान और मजदूरों के लिए क्या है?

Image
Gaya , Karimganj , Over Bridge Advertisement इस पोस्ट को शेयर करें Facebook   इस पोस्ट को शेयर करें WhatsApp   इस पोस्ट को शेयर करें Messenger   इस पोस्ट को शेयर करें Twitter   साझा कीजिए इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES मोदी सरकार का अंतरिम बजट अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने आज लोकसभा में पेश कर दिया. इस बजट में नौकरी पेशा, किसानों और महिलाओं के लिए कई ऐलान किए गए. सबसे अहम ऐलान आयकर में छूट को लेकर किया गया है. अब 5 लाख रुपये तक की सैलरी पाने वाले लोगों को कोई टैक्स नहीं देना होगा. जानिए और क्या रहा इस बजट में ख़ास. टैक्स में क्या  फ़ायदा  मिला? • मीडिल क्लास को लुभाने लिए टैक्स स्लैब में बदलाव किए गए हैं. पांच लाख रुपये तक की सालाना इनकम पर टैक्स नहीं देना होगा. 1.5 लाख रुपये तक निवेश करने पर टैक्स नहीं लगेगा. टैक्स छूट की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़कर 5 लाख रुपये होने का सबसे बड़ा फ़ायदा मिडिल क्लास को मिलेगा. • स्टैंडर्ड डिडक्शन की सीमा भी बढ़ा दी गई है. इसे अब 40 हज़ार रुपये से बढ़ाकर 50 हज़ार रुपये कर दिया गया है और इसके अलावा अब फिक्स्